Thu, Jan 27, 2022
Updated 11:04 am IST
Updated 11:04 am IST

Paytm IPO लिस्ट होते ही निवेशकों को नुकसान, एनएसई पर 1950 रुपये और बीएसई पर 1955 रुपये पर हुआ लिस्टिंग

Published on : Nov 18, 2021, 10:00 AM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • पेटीएम के शेयर्स की कमजोर शुरुआत, निवशकों को नहीं मिला लिस्टिंग गेन
  • एनएसई पर 1950 रुपये और बीएसई पर 1955 रुपये पर हुआ लिस्टिंग

नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े आईपीओ के तहत पेटीएम की शेयर बाजार में गुरुवार को लिस्टिंग निराशाजनक रही है. Paytm ने इस IPO के लिए प्राइस बैंड 2,080 से 2,150 रुपये रुपये प्रति शेयर रखा था। लेकिन ये एनएसई पर 1950 रुपये और बीएसई पर 1955 रुपये पर लिस्ट हुआ हैं। वहीं सुबह 10 बजे के आसपास बीएसई पर यह शेयर और टूटते हुए 1777.50 रुपये तक पहुंच गया. इसी तरह यह एनएसई पर यह 1776 रुपये तक पहुंच गया।

देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट्स कंपनी पेटीएम की पेरेंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशन लिमिटेड का आईपीओ 8 नवंबर से 10 नवंबर के बीच सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था। पेटीएम के इश्यू का प्राइस बैंड 2080-2150 रुपये के बीच था। हालांकि ये आईपीओ बेहद चर्चा के बावजूद सिर्फ 1.89 गुना ही सब्सक्राइब हो पाया था जो कि अनुमान से बेहद कम साबित हो पाया। कंपनी इस आईपीओ के जरिए 18,300 करोड़ रुपये जुटाने के लक्ष्य रखी थी। 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार

image

देश

कृषि कानून के वापसी से चुनावी राज्य में बदलेगा सियासी समीकरण, भाजपा को मिल सकता हैं बड़ा फायदा

नई दिल्ली: देश के पांच राज्यों में अगले दो से ढाई महीने के बीच विधानसभा चुनाव होने हैं। विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सभी राजनीतिक दलों ने अपने - अपने हिसाब से अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।&nb

image

देश

अन्नदाताओं के सामने पहले भी झुकी हैं मोदी सरकार, 2015 में भी वापस लेना पड़ा था कानून

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 19 नवंबर को राष्ट्र के नाम संबोधन में सरकार के द्वारा लाये गए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया।  इस दौरान उन्होंने कहा कि शीतकालीन सत्र के द

image

उत्तर प्रदेश

क्या योगी के सहारे अपनी बादशाहत बचाएंगे राजा भैया , राजनीतिक गलियारों में सरगर्मी हुई तेज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के 403 विधानसभा सीटों में से एक हैं कुंडा विधानसभा सीट, जहां रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया की बादशाहत पिछले 30 सालों से चली आ रही हैं।  हालांकि चुनाव के नजदीक आते ही बड़ा सव